अस्पष्ट बांझपन क्या है

अधिकांश लोगों को पता नहीं होता कि अस्पष्ट बांझपन क्या होता है और यह समस्या महिला या पुरुष में से किसी को भी हो सकती है। अस्पष्ट बांझपन का मतलब है कि पूरी तरह से बांझपन की जांच के बाद भी रोग का कारण अज्ञात यानि किसी कारण का पता न लग पाना। जांच में पुरुष के वीर्य विश्लेषण (semen analysis) और महिला के अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब व् गर्भाश्य की जाँच शामिल होती है।

Unexplained infertility hindi
Unexplained Infertility in Hindi

अस्पष्ट बांझपन क्या है?

अस्पष्ट बांझपन का निदान तब किया जाता है जब बांझपन के सभी टेस्ट में कोई कारण स्पष्ट नहीं होता है। पुरुष में निषेचन के लिए सहायक कारक शुक्राणु होता है और वीर्य विश्लेषण (semen analysis) के बाद शक्राणु की गिनती, गतिशीलता, और आकार सब सामान्य होने के बाद भी बच्चा पैदा करने असक्षम हो, तो वह अस्पष्ट बांझपन कहलाता है। इसके अलावा महिला प्रजनन स्वास्थ्य में कोई समस्या न होना याफिर भी एक महिला का गर्भधारण नहीं कर पाना भी अस्पष्ट बांझपन की निशानी हो सकती है।

अस्पष्ट बांझपन के क्या कारण हो सकते हैं?

  • शुक्राणु की गुणवत्ता से संबंधित कुछ समस्या है, जिन्हें नियमित वीर्य विश्लेषण (semen analysis) परीक्षण में नहीं पाया जा सकता है और एक खराब गुणवत्ता वाले शुक्राणु अंडे को उर्वरक करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं।
  • अंडे की गुणवत्ता के साथ कुछ समस्या हो सकती है। माँ की उम्र और अंडे की गुणवत्ता गर्भावस्था में एक प्रमुख भूमिका निभाती है।
  • हल्के ओवुलेशन की समस्या (MILD OVULATION) हो सकती है।
  • अंडे और शुक्राणु सामान्य रूप से मिल नहीं सकते हैं जिससे वह निषेचन की प्रक्रिया को प्रभावित कर सकते हैं।
  • फैलोपियन ट्यूब की अस्तर में कुछ समस्याएं हो सकती हैं जिन्हें एचएसजी परीक्षण (HSG TEST) के बाद भी पता नहीं लग पता है। जिसके कारण अंडे, शुक्राणु या निषेचित अंडे का गमन में दिक्कत हो सकती है।
  • कुछ कमियों के कारण प्रत्यारोपण में विफलता हो सकती है।

अस्पष्ट बांझपन के लिए कौन-से उपचार उपलब्ध है?

अगर किसी दम्पति का अस्पष्ट बांझपन का उपचार किया जाता है, तो डॉक्टरों का पहला सुझाव यही होता है कि तनाव न लें।

यदि दम्पति युवा हैं तो वह कुछ चक्रों के लिए स्वाभाविक रूप से प्रयास कर सकते हैं। लेकिन महिला की उम्र 35 वर्ष या उससे अधिक है, तो बांझपन विशेषज्ञ की राय लेना उचित रहेगा।

उपचार की पहली पसंद प्राकृतिक चक्र या नियंत्रित ओवुलेशन उत्तेजना (OVARIAN STIMULATION) के साथ आई यू आई की सलाह दी जाती है। क्लॉमिड या हार्मोनल इंजेक्शन दिया जाता है जिससे ओवुलेशन उत्तेजना हो और अंडाशय से एक परिपक्व अंडा उत्पन्न हो सकें। लेकिन अगर आई यू आई के 3 चक्र विफल हो गए हैं, तो आई वी एफ के साथ आगे बढ़ना सबसे अच्छा विकल्प मन जाता है।

मेडिकवर फर्टिलिटी अस्पष्ट बांझपन में कैसे मदद करता है?

मेडिकवर फर्टिलिटी क्लिनिक यूरोप में श्रेष्ट प्रजनन क्लीनिकों में से हैं, जो अब भारत में मौजूद हैं। हमारे पास अत्यधिक कुशल और अनुभवी डॉक्टरों की एक टीम है जो प्रजनन संबंधी समस्यों के रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज करने में सक्षम है। बांझपन अपने आप में काफी तनावपूर्ण है और जब आप इस स्थिति के कारण को नहीं जान पाते हैं तो यह आपकी उलझन को ओर बढ़ा देता है। मेडिकवर मरीजों की जाँच कर अस्पष्ट बांझपन सबंधी समस्या का इलाज करता। जिससे महिला व पुरुष माता-पिता बनने के सुख का आनंद ले पायें। मेडिकवर फर्टिलिटी के पास कई अस्पष्ट बांझपन सबंधी समस्याओं से जुड़ी सफल कहानियां साझा करने के लिए मौजूद है।

Get Latest Updates on
IVF & Fertility
in your mail box




100% Privacy. We don't spam.

Follows us :
Recent
गर्भावस्था

गर्भावस्था एक ऐसा शब्द है जो केवल महिलाओं को ही नहीं, पूरे परिवार को ख़ुशी देता है। गर्भावस्था को समझे तो मतलब होगा गर्भ की अवस्था, इस अवधि के लिए एक शुक्राणु और अंडा मिलकर भ्रूण बनता है जो गर्भावस्था...Read more

अशुक्राणुता

एक परिवार को पूरा करने में जितना सहयोग महिला का होता है उतना ही पुरुष का भी योगदान होता है। यदि दोनों में से किसी भी व्यक्ति को कोई भी समस्या हो, तो एक बच्चे का सपना साकार करने में...Read more

WhatsApp WhatsApp us